Meaning of Oneness in Hindi - हिंदी में मतलब

profile
Ayush Rastogi
Mar 07, 2020   •  13 views
  • एकात्मकता

  • एकता

  • अपनापन

Synonyms of "Oneness"

"Oneness" शब्द का वाक्य में प्रयोग

  • The Supramental Consciousness is not only a Knowledge, a Bliss, an intimate Love and oneness, it is also a Will, a principle of Power and Force, and it cannot descend till the element of Will, of Power, of Force in this manifested Nature is sufficiently developed and sublimated to receive and bear it.
    अतिमानसिक चेतना केवल ज्ञान, आनंद, घनिष्ट प्रेम और एकत्व ही नहीं है, वह तपस् या संकल्प भी है, बल और शक्ति का तत्त्व भी है, और वह तब तक अवतरित नहीं हो सकती जब तक इस व्यक्त प्रकृति में तपस् अर्थात् बल एवं शक्ति का तत्त्व उसे ग्रहण करने तथा स्पन्दित करने के लिये पर्याप्त विकसित तथा उदात्त नहीं हो जाता ।

  • oneness of god
    ईश्वर की एकता

  • It is only when, awaking from its immersion in Prakriti, it perceives its oneness with the One and its oneness with all existences that it can become free from these things and found its right relation to this executive world - Nature.
    प्रकृति के अन्दर ग्रस्त रहने की इस अवस्था से जागकर जेब यह एकमेव और भूतमात्र के साथ अपनी एकता अनुभव करती है तभी यह इन द्वंद्वों से मुक्त होकर कर्त्री जगत् - प्रकृति से अपना ठीक सम्बन्ध स्थापित कर सकती है ।

  • It will use the method of endurance, but not stop short with a detached strength and serenity, but move rather to a positive strength and mastery, in which endurance will no longer be needed, since the self will then be in a calm and powerful spontaneous possession of the universal energy and capable 720 The yoga of Self - Perfection of determining easily and happily all its reactions in the oneness and the Ananda.
    यह तितिक्षा की विधि का प्रयोग करेगा, पर अनासक्त शक्ति और प्रशान्ति पर ही नहीं रूक जायेगा, बल्कि उस भावात्मक शक्ति एवं प्रभुत्व की ओर अग्रसर होगा जिसमें फिर तितिक्षा की जरूरत ही नहीं रहेगी, क्योंकि तब आत्मा अपने अन्दर विराट् शक्ति को सुस्थिर, प्रबल और साहसिक रूप में धारण कर लेगी और एकत्व एवं आनंद में स्थित होकर वहीं से अपनी सब प्रतिक्रियाओं को सरलता और प्रसन्नता के साथ निर्धारित करने में समर्थ बन जायेगी ।

  • The highest knowledge and highest spiritual experience by knowledge find his oneness as perfect in his 550 The yoga of Divine Love various relations with the Many as in his self - absorbed delight.
    सर्वोच्च ज्ञान और ज्ञानलब्ध सर्वोच्च आध्यात्मिक अनुभव को, बहुत के साथ उनके नाना सम्बन्धो के बीच भी उनकी एकता वैसी ही 560 योग - समन्वय पूर्ण प्रतीत होती है जैसी उनके आत्म - मग्न आनंद में ।

  • In the image of the ether, not physical but an encompassing ether of vast being, consciousness and bliss, he may seek to see with the mind and to feel in his mental being this supreme existence and to identify it in oneness with the self within him.
    भौतिक आकाश के नहीं, बल्कि विशाल सत्, चित्, आनन्द के सर्वतोव्यापी आकाश के इस रूपक में वह इस परमोच्च सत्ता का मन के द्वारा दर्शन करने तथा अपनी मनोमय सत्ता में इसका अनुभव करने और इसके साथ अपनी अन्तःस्थ विश्वात्मा का साक्षात्कार 375 आत्मा की एकता का ज्ञान प्राप्त करने का यत्न कर सकता है ।

  • It is not ultimately the pure peace of oneness or the power and desireless will of oneness, but the ecstatic joy of union which the devotee seeks by his Yoga.
    भकत अपने योगद्वारा जो चीज खोजता है वह अन्ततः एकत्व की विशुद्ध शांति का एकत्व की शक्ति एवं निष्काम संकल्प - बल नहीं है, वह तो है मिलन की मस्ती ।

  • The seat of the ego is said to be in the buddhi ; it is an ignorance of the discriminating mind and reason which discriminate wrongly and take the individuation of mind, life and body for a truth of separative existence and are turned away from the greater reconciling truth of the oneness of all existence.
    अहं का स्थान बुद्धि में माना जाता है, अहंभाव विवेककारी मन और बुद्धि का अज्ञान ही है, क्योंकि ये मन और बुद्धि अशुद्ध रूप में विवेक करते हैं और मन, प्राण तथा शरीर के व्यक्तिभावापात्र रूप को भेदभावजनक सत्ता का सत्य समझते हैं और समस्त सत्ता की एकता के महत्तर एवं समन्वयकारी सत्य से विमुख हो जाते है ।

  • The reason for this is that this religion does not believe in oneness of God, which was against the basic principle of Islam.
    इसका कारण था कि वह धर्म ईश्वर की एकता को नहीं मानता था जो कि इस्लाम के मूल सिद्धांतों के विरुद्ध था ।

  • It is the foundation of oneness in ecstasy.
    यह दिव्यानंद में एकत्व की आधारशिला है ।

0



  0