Meaning of Impure in Hindi - हिंदी में मतलब

profile
Ayush Rastogi
Mar 08, 2020   •  3 views
  • अपवित्र

  • अनिर्मल

  • अशुद्ध

Synonyms of "Impure"

Antonyms of "Impure"

"Impure" शब्द का वाक्य में प्रयोग

  • Women impure are for men impure, and men impure for women impure and women of purity are for men of purity, and men of purity are for women of purity: these are not affected by what people say: for them there is forgiveness, and a provision honourable.
    गन्दी चीज़े गन्दें लोगों के लिए है और गन्दे लोग गन्दी चीज़ों के लिए, और अच्छी चीज़ें अच्छे लोगों के लिए है और अच्छे लोग अच्छी चीज़ों के लिए । वे लोग उन बातों से बरी है, जो वे कह रहे है । उनके लिए क्षमा और सम्मानित आजीविका है

  • Women impure are for men impure, and men impure for women impure and women of purity are for men of purity, and men of purity are for women of purity: these are not affected by what people say: for them there is forgiveness, and a provision honourable.
    गन्दी औरते गन्दें मर्दों के लिए हैं और गन्दे मर्द गन्दी औरतो के लिए और पाक औरतें पाक मर्दों के लिए हैं और पाक मर्द पाक औरतों के लिए लोग जो कुछ उनकी निस्बत बका करते हैं उससे ये लोग बुरी उल ज़िम्मा हैं उन ही के लिए बख़्शिस है

  • Women impure are for men impure, and men impure for women impure and women of purity are for men of purity, and men of purity are for women of purity: these are not affected by what people say: for them there is forgiveness, and a provision honourable.
    गन्दी औरते गन्दें मर्दों के लिए हैं और गन्दे मर्द गन्दी औरतो के लिए और पाक औरतें पाक मर्दों के लिए हैं और पाक मर्द पाक औरतों के लिए लोग जो कुछ उनकी निस्बत बका करते हैं उससे ये लोग बुरी उल ज़िम्मा हैं उन ही के लिए बख़्शिस है

  • Many diseases, epidemics and deaths result from impure water.
    अनेक रोगों, महामारियों और मौतों का कारण दूषित जल होता है ।

  • Say, “ The impure and the pure are not equal, even though the abundance of the impure may attract you ; therefore keep fearing Allah, O men of intellect, so that you may succeed. ”
    कह दो," बुरी चीज़ और अच्छी चीज़ समान नहीं होती, चाहे बुरी चीज़ों की बहुतायत तुम्हें प्रिय ही क्यों न लगे ।" अतः ऐ बुद्धि और समझवालों! अल्लाह का डर रखो, ताकि तुम सफल हो सको

  • Allah is not one to leave the believers in the state wherein ye are until He hath discriminated the impure from the pure. And Allah is not one to acquaint you with the Unseen, but Allah chooseth him whomsoever He willeth, of His apostles. Believe wherefore in Allah and His apostles ; and if ye believe and fear, yours shall be a mighty hire.
    अल्लाह ईमानवालों को इस दशा में नहीं रहने देगा, जिसमें तुम हो । यह तो उस समय तक की बात है जबतक कि वह अपवित्र को पवित्र से पृथक नहीं कर देता । और अल्लाह ऐसा नहीं है कि वह तुम्हें परोक्ष की सूचना दे दे । किन्तु अल्लाह इस काम के लिए जिसको चाहता है चुन लेता है, और वे उसके रसूल होते है । अतः अल्लाह और उसके रसूल पर ईमान लाओ । और यदि तुम ईमान लाओगे और डर रखोगे तो तुमको बड़ा प्रतिदान मिलेगा

  • Those who follow the Apostle - Prophet, the Ummi, whom they find written down with them in the Taurat and the Injeel enjoins them good and forbids them evil, and makes lawful to them the good things and makes unlawful to them impure things, and removes from them their burden and the shackles which were upon them ; so those who believe in him and honor him and help him, and follow the light which has been sent down with him, these it is that are the successful.
    जो लोग हमारे बनी उल उम्मी पैग़म्बर के क़दम बा क़दम चलते हैं जिस को अपने हॉ तौरैत और इन्जील में लिखा हुआ पाते है जो अच्छे काम का हुक्म देता है और बुरे काम से रोकता है और जो पाक व पाकीज़ा चीजे तो उन पर हलाल और नापाक गन्दी चीजे उन पर हराम कर देता है और बोझ जो उनकी गर्दन पर था और वह फन्दे जो उन पर थे उनसे हटा देता है पस जो लोग पर ईमान लाए और उसकी इज्ज़त की और उसकी मदद की और उस नूर की पैरवी की जो उसके साथ नाज़िल हुआ है तो यही लोग अपनी दिली मुरादे पाएंगें

  • Multidimensional data of this computer system is visually explored by impure segment.
    अशुद्ध खंड द्वारा इस कंप्यूटर सिस्टम के बहुआयामी डेटा का दृश्य सममन्वेषण किया गया है ।

  • the state of being contaminated or impure
    अशुद्ध या दूषित होने की अवस्था

  • This attitude is altogether different from the one which he had developed earlier during the period when he worshipped him as God with attributes, when Almast considered himself a destitute and impure and wished for His blessings.
    यह सगुण दौर की कविता से पूर्णतया भिन्न है, जबकि अलमस्त खुद को दीन - मलीन मानकर उसकी कृपा की आकांक्षा रखते हैं ।

0



  0