Meaning of Blood in Hindi - हिंदी में मतलब

profile
Ayush Rastogi
Mar 08, 2020   •  0 views
  • जोश

  • बलि

  • स्वभाव

  • प्रकृति

  • हत्या

  • रस

  • वंश

  • खून

  • रक्क्त

  • छैला

  • रक्त

  • खानदान

  • खून चखने देना

  • जौहर दिकाना

  • जीवन शक्ति

  • कुशलता दिकाना

  • दुश्चरिट्र व्यक्ति

  • रक्त/खून/लहू

  • शोणित

Synonyms of "Blood"

"Blood" शब्द का वाक्य में प्रयोग

  • discharge of blood from uterus.
    गर्भाशय से रक्तस्राव होना ।

  • A believer cannot slay another believer except by mistake for which the retaliation is to set free a believing slave and pay the appointed blood money to the relatives of the deceased unless the relatives wave aside the payment. If the person slain is from your enemies but himself is a believer, the penalty is to set free a believing slave. If the person slain is one of those with whom you have a peace treaty, the penalty is the same as that for a slain believer. If this is not possible, the defendant has to fast for two consecutive months, asking God to accept his repentance. He is All - knowing and All - wise.
    और किसी ईमानदार को ये जायज़ नहीं कि किसी मोमिन को जान से मार डाले मगर धोखे से और जो शख्स किसी मोमिन को धोखे से मार डाले तो एक ईमानदार गुलाम का आज़ाद करना और मक़तूल के क़राबतदारों को खूंन बहा देना है मगर जब वह लोग माफ़ करें फिर अगर मक़तूल उन लोगों में से हो वह जो तुम्हारे दुशमन हैं और ख़ुद क़ातिल मोमिन है तो एक मुसलमान ग़ुलाम का आज़ाद करना और अगर मक़तूल उन लोगों में का हो जिनसे तुम से एहद व पैमान हो चुका है तो वारिसे मक़तूल को ख़ून बहा देना और एक बन्दए मोमिन का आज़ाद करना है फ़िर जो शख्स न पाये तो उसका कुफ्फ़ारा ख़ुदा की तरफ़ से लगातार दो महीने के रोज़े हैं और ख़ुदा ख़ूब वाकिफ़कार हिकमत वाला है

  • Haemotocrit is used to diagnose blood disease
    लोहित कोशिका मापी का प्रयोग रक्त संबंधी रोगों के निदान में किया जाता है ।

  • The bacterial germs can also cause septicaemia - blood poisoning or an infection of the blood.
    इनमें से कुछ बैक्टीरिया होते हैं और कुछ वाइरस ।

  • white blood corpuscle
    श्वेत रुधिर कणिका

  • Indeed, in some cases, she may even unwittingly kill the baby because her blood contains an hereditary ' something ', the so - called R factor, which is hostile to that in her baby ' s blood as we shall explain more fully later on.
    वास्तव में यदा - कदा मां अज्ञानतावश अपनी संतान की हत्या भी कर देती है क़्योंकि उसके रक्त में कोई ऐसा पदार्थ उपस्थित रहता है जो शिशु के खून का प्रतिरोधी पदार्थ होता है. इसे ष् घटक कहते हैं. इस विषय में विस्तृत चर्चा कुछ बाद में होगी.

  • When blood is taken out of the body, it has a tendency to clot, i. e. to get coagulated ; it leaves behind the watery portion which is called serum.
    जब शरीर से रक्त बाहर निकाला जाता है तब इसमे जम जाने की प्रवृति होती है ; अर्थात् इसका स्कंदन हो जाता है ; थक्के के अतिरिक्त इसमें एक पानी जैसा पदार्थ बचा रहता है जिसे सीरम कहते हैं ।

  • In this condition a person can become unconscious, and this applies also if the quantity of sugar in the blood falls below a certain level.
    इस अवस्था में एक व्यक्ति बेहोश हो सकता है और यह तब भी होता है जब रक्त में शक्कर की मात्रा कम हो जाती है ।

  • Sanguivorous refers to that feeding on blood like leeches and insects.
    रक्तजीवी या रक्तचूषक उन्हें निर्दिष्ट करता है जो रक्त पर निर्भर रहते हैं जैसे जौंक और कीट

  • It is not for a believer to slay a believer except by a mischance ; and whosoever slayeth a believer by mischance on him is the setting free of a believing bondman and blood - wit to be delivered to his family except that they forego. Then if he be of a people hostile unto you and is himself a believer, then the setting free of a believing bondman ; and if he be of a people between man whom and you is a bond, then the bloodwit to be delivered to his family and the setting free of a believing bondman. Then whosoever findeth not the wherewithal, on him is the fasting for two months in succession: a penance from Allah. And Allah is ever Knowing, Wise.
    किसी ईमानवाले का यह काम नहीं कि वह किसी ईमानवाले का हत्या करे, भूल - चूक की बात और है । और यदि कोई क्यक्ति यदि ग़लती से किसी ईमानवाले की हत्या कर दे, तो एक मोमिन ग़ुलाम को आज़ाद करना होगा और अर्थदंड उस के घरवालों को सौंपा जाए । यह और बात है कि वे अपनी ख़ुशी से छोड़ दें । और यदि वह उन लोगों में से हो, जो तुम्हारे शत्रु हों और वह स्वयं मोमिन रहा तो एक मोमिन को ग़ुलामी से आज़ाद करना होगा । और यदि वह उन लोगों में से हो कि तुम्हारे और उनके बीच कोई संधि और समझौता हो, तो अर्थदंड उसके घरवालों को सौंपा जाए और एक मोमिन को ग़ुलामी से आज़ाद करना होगा । लेकिन जो न पाए तो वह निरन्तर दो मास के रोज़े रखे । यह अल्लाह की ओर से निश्चित किया हुआ उसकी तरफ़ पलट आने का तरीक़ा है । अल्लाह तो सब कुछ जाननेवाला, तत्वदर्शी है

0



  0