Yanti Meaning In Hindi - यान्ति का मतलब

profile
Parul Gaur
Sep 27, 2019   •  3 views

Name(s)
Yanti

नाम
यान्ति

अर्थ

  • देवी पार्वती

लिंग
लड़की

धर्म
हिन्दू

राशि
वृश्चिक

यान्ति का मतलब
आइये यान्ति नाम रखने के प्रभाव को गहरायी से समझते हैं। अगर आप अपने बच्चे का नाम यान्ति रखने की सोच रहें हैं तो पहले उसका मतलब जान लेना जरूरी है। ऐसा इसलिए, क्यूंकि यान्ति नाम रखने से आपका बच्चा भी इस नाम के मतलब की तरह व्यव्हार करने लगता है और वो गुण लेता है जो इसके अर्थ में यानि की देवी पार्वती में समाहित होता है।

वृश्चिक राशि के हिसाब से यान्ति की प्रकृति
वृश्चिक राशि के जातक जीवन में कीर्तिमान बनाते हैं। इस राशि वालों को सरलता से हराया नहीं जा सकता है। ये अच्छे संघर्ष का आनंद लेते हैं तथा भावुकता से पीड़ित रहते हैं। वृश्चिक राशि के लोग चाहे उच्च स्तर पर रहे हों अथवा निम्न स्तर पर, चाहे वह ग्राहक हों या प्रदाता ओजपूर्ण हों अथवा शीतल ये अपने प्रभाव को अवश्य छोड़ते हैं। इस राशि वाले सिद्धांतों के लिए संघर्ष करने वाले होते हैं।
वृश्चिक राशि की प्रकृति के बारे में और जानें

वृश्चिक राशि के हिसाब से यान्ति की सेहत
वृश्चिक राशि के जातकों को दांतों का कष्ट रहता है। स्त्रियों को गर्भपात का भय रहता है। मासिक धर्म से तकलीफ हो सकती है। वृश्चिक राशि वाले व्यक्तियों को पेट विकार या मूत्र विकार का भय बना रहता है। इंद्रिय, गला, हृदय व पेट संबंधी रोग बनता है। कफ प्रकृति रहेगी, चेचक फोड़े-फुंसी आदि का भय बना रहेगा। अतः इन लोगों को अपने रक्त की शुद्धता का हमेशा ध्यान रखना चाहिए। इसलिए शहद, सांटे का रस, दूध, खजूर, नीरा, छाछ आदि का सेवन करते रहना चाहिए।
वृश्चिक राशि की सेहत के बारे में और जानें

वृश्चिक राशि के हिसाब से यान्ति की कैरियर प्रोफ़ाइल
वृश्चिक राशि वालों को चिकित्सा, ज्योतिष, विज्ञान के विषयों, प्रबंधन, वाणिज्य, राजनीति शास्त्र आदि विषयों का अध्ययन करने पर अधिक सफलता प्राप्त करते हैं।
वृश्चिक राशि की कैरियर प्रोफ़ाइल के बारे में और जानें

वृश्चिक राशि के हिसाब से यान्ति के प्रेमव्यवहार
वृश्चिक राशि वाले प्रेम के भूखे होते हैं। प्रेम ही उनकी शक्ति होती है। वह प्रेम के बदले प्रेम चाहते हैं। कुछ लोग उन्हें कामुक कह सकते हैं, परन्तु वह काम का संबंध भी प्रेम से जोड़ते हैं। वृश्चिक राशि वालों का प्रेम संबंध भी एक अनोखे प्रकार का होता है। इस राशि वालों का पंचम स्थान मीन से संबंधित एवं नेपच्यून से शासित है। अतः इस राशि के लोग भ्रमों के शिकार होते रहते हैं।
वृश्चिक राशि के प्रेमव्यवहार के बारे में और जानें

वृश्चिक राशि के लिए भाग्यशाली दिन, भाग्यशाली संख्या, भाग्यशाली रंग, भाग्यशाली रत्न, सकारात्मक गुण, और नकारात्मक गुण के बारे में जानें
वृश्चिक राशि तथ्य

0



  0