Nar Meaning In Hindi - नर का मतलब

profile
Parul Gaur
Sep 27, 2019   •  1 view

Name(s)
Nar

नाम
नर

अर्थ

  • नर जाति का मनुष्य

  • पांडु का मँझला पुत्र

  • पुरुष जाति का

  • वह जो पुरुष जाति का हो

  • एक पौराणिक ऋषि

  • गय नामक राक्षस का एक पुत्र

  • एक प्रकार का दोहा

  • छप्पय छंद का एक भेद

लिंग
लड़की

धर्म
सिख

राशि
वृश्चिक

नर का मतलब
आइये नर नाम रखने के प्रभाव को गहरायी से समझते हैं। अगर आप अपने बच्चे का नाम नर रखने की सोच रहें हैं तो पहले उसका मतलब जान लेना जरूरी है। ऐसा इसलिए, क्यूंकि नर नाम रखने से आपका बच्चा भी इस नाम के मतलब की तरह व्यव्हार करने लगता है और वो गुण लेता है जो इसके अर्थ में यानि की नर जाति का मनुष्य, पांडु का मँझला पुत्र, पुरुष जाति का, वह जो पुरुष जाति का हो, एक पौराणिक ऋषि, गय नामक राक्षस का एक पुत्र, एक प्रकार का दोहा, छप्पय छंद का एक भेद में समाहित होता है।

वृश्चिक राशि के हिसाब से नर की प्रकृति
वृश्चिक राशि वाले निरंतर निर्माण कार्यों में रत्‌ रहते हैं तथा जाने-अनजाने अपने भविष्य का निर्माण स्वयं करते रहते हैं। जय के बाद इन्हें विजय अवश्य मिलती है। ये अधिक संवेदनशील होते हैं। संतुलन एवं समरसता की खोज में लगे रहते हैं। अपनी रहस्यात्मकता को कम करने में स्वयं को अधिक प्रकाशित करते हैं। यह भीतर से कोमल तथा बाहर से कठोर होते हैं।
वृश्चिक राशि की प्रकृति के बारे में और जानें

वृश्चिक राशि के हिसाब से नर की सेहत
वृश्चिक राशि के जातक सामान्यतः रक्त विकार से परेशान रहते हैं। अस्वस्थ्यता, अनियमित दिनचर्या के कारण पाचन संस्थान, संक्रमण रोग, आलस्य, उत्साहहीनता, विस्मृति, अनियमितता आदि रोग हो जाते हैं। स्वप्नदोष, रक्तस्राव, हार्निया, मासिक धर्म की अनियमितता और स्त्री को कष्ट, कब्ज, कोष्ठबद्धता, गठिया, नजला, सन्निपात, बवासीर, लिकोरिया, ट्यूमर आदि रोगों से परेशानी हो सकती है।
वृश्चिक राशि की सेहत के बारे में और जानें

वृश्चिक राशि के हिसाब से नर की कैरियर प्रोफ़ाइल
वृश्चिक राशि वाले क्रय-विक्रय करने वाले, औषधि अथवा इलेक्ट्रिक यंत्र का व्यापार करने वाले, यंत्र कार्य करने वाले, रस-पदार्थ तेल आदि से संबंधित कार्य करने वाले होते हैं। विदेश व्यापार, आयात-निर्यात में इनको विशेष सफलता अवश्य मिलती है।
वृश्चिक राशि की कैरियर प्रोफ़ाइल के बारे में और जानें

वृश्चिक राशि के हिसाब से नर के प्रेमव्यवहार
वृश्चिक राशि वाले दूसरों पर विश्वास न कर पाने के कारण स्थितियों से निपटने का भार केवल स्वयं को ही देना चाहते हैं। इसके फलस्वरूप ईर्ष्या तथा संदेह का वातावरण बनता है। इस राशि के लोग अपनी इच्छाओं को दूसरों पर थोप सकते हैं। ये काम को एक हथियार के रूप में प्रयुक्त कर सकते हैं। यद्यपि कभी-कभी यह स्वयं भी उसी का शिकार हो जाते हैं।
वृश्चिक राशि के प्रेमव्यवहार के बारे में और जानें

वृश्चिक राशि के लिए भाग्यशाली दिन, भाग्यशाली संख्या, भाग्यशाली रंग, भाग्यशाली रत्न, सकारात्मक गुण, और नकारात्मक गुण के बारे में जानें
वृश्चिक राशि तथ्य

0



  0