Shatak Meaning In Hindi - शतक का मतलब

profile
Akanksha Soni
Sep 26, 2019   •  0 views

Name(s)
Shatak

नाम
शतक

अर्थ

  • सौ वर्ष का समय

  • सौ रन

  • एक ही तरह की सौ वस्तुओं का संग्रह

लिंग
लड़का

धर्म
हिन्दू

राशि
कुंभ

शतक का मतलब
आइये शतक नाम रखने के प्रभाव को गहरायी से समझते हैं। अगर आप अपने बच्चे का नाम शतक रखने की सोच रहें हैं तो पहले उसका मतलब जान लेना जरूरी है। ऐसा इसलिए, क्यूंकि शतक नाम रखने से आपका बच्चा भी इस नाम के मतलब की तरह व्यव्हार करने लगता है और वो गुण लेता है जो इसके अर्थ में यानि की सौ वर्ष का समय, सौ रन, एक ही तरह की सौ वस्तुओं का संग्रह में समाहित होता है।

कुंभ राशि के हिसाब से शतक की प्रकृति
कुंभ राशि के व्यक्ति बड़े संगठनों में रुचि रखते हैं। इन्हें वास्तविक कार्यों में रूचि होती है। ये प्रेमी, मित्र, संरक्षक तथा रोमांटिक व्यक्ति होते हैं। ये लोग किसी को लाभ कर उसका पुरस्कार भी पाना चाहते हैं। कुंभ राशि वाले नई से नई चुनौतियों की इच्छा करते हैं। आदर्श-प्रिय होने के कारण किसी बात को गुप्त नहीं रख पाते। इनकी सहानुभूति तीव्र होती है, परन्तु बहुधा ये उसके अनुसार कार्य करने में असमर्थ रहते हैं। कुंभ राशि के पुरूषों में अन्तर्ज्ञान अधिक होता है। ये अपने वचन के पक्के होते हैं तथा वचन भंग करने वालों से उनकी पटरी नही बैठ सकती है।
कुंभ राशि की प्रकृति के बारे में और जानें

कुंभ राशि के हिसाब से शतक की सेहत
कुंभ राशि के जातक बलिष्ठ शरीर के स्वामी होते हैं लेकिन पांव तथा घुटने दुर्बल होते है। पेट, गुर्दे तथा मज्जा तन्तु भी कमजोर रहते हैं। अधिकतर पांव में मोच, पेट के रोगी, रक्त की अल्पता, वायु विकार, खुजली, रक्त-विकार, त्वचा रोग, शीत विकार, हृदय रोग, पागलपन, गंजापन अपघात आदि रोगों या विकारों से परेशान रहते हैं। स्वास्थ्य के लिए नियमित, पौष्टिक एवं संतुलित आहार लेना चाहिए।
कुंभ राशि की सेहत के बारे में और जानें

कुंभ राशि के हिसाब से शतक की कैरियर प्रोफ़ाइल
कुंभ राशि के जातक प्रमुख रूप से विज्ञान, रिसर्च के क्षेत्र, सामुद्रिक ज्योतिष, एरोनॉटिक इंजीनियरिंग, बी. एड, समाज सेवा संबंधी विषयों में अध्ययन करें तो विशेष सफलता प्राप्त कर सकते हैं।
कुंभ राशि की कैरियर प्रोफ़ाइल के बारे में और जानें

कुंभ राशि के हिसाब से शतक के प्रेमव्यवहार
कुंभ राशि के जातकों के विरोधी लिंग के साथी प्रायः चंचल प्रकृति के होते हैं। उनसे मानसिक धरातल पर सम्पर्क रखना अच्छा रहता है, शारीरिक नहीं। इन्हें मानसिक सम्पर्क से ही तृप्ति मिल सकती है। इन्हें अपनी अन्तप्रेरणा पर अधिक विश्वास होता है। प्रेम के क्षेत्र में इनकी मुख्य समस्या समझने और समझाने की होती है।
कुंभ राशि के प्रेमव्यवहार के बारे में और जानें

कुंभ राशि के लिए भाग्यशाली दिन, भाग्यशाली संख्या, भाग्यशाली रंग, भाग्यशाली रत्न, सकारात्मक गुण, और नकारात्मक गुण के बारे में जानें
कुंभ राशि तथ्य

0



  0