मंज़िलें तो वही हैं

profile
Rahul Verma
Dec 01, 2019   •  2 views

रास्ते कहाँ खत्म होते हैं ,

जिंदगी के सफर में ;

मंज़िलें तो वही हैं ,

जहाँ ख्वाहिशें थम जाएँ 
  रहुल वर्मा

0



  0