थमता ये रक्त है - कटता ना वक्त है ! मेरा लिखा हुआ गाना 🤗


थमता ये रक्त है 

कटता ना वक्त है 


 आंखों से हर पल 

लूट रहा खाइशे 

होठों से हर पल

 पुकार रहा मैं उसे



 तू अब तो सुबह बन 

मेरा तू छू ले तन 


 साज़िश ना ये मेरी 

ख्वाहिश है बस तेरी 


क्यों दूरी तू मेरी 

क्यों दूरी तू मेरी



राजी ना दिल मेरा 

राजी ना दिल मेरा 


ना जा सकूं हक में 

ना बिता सकूं वक्त में 


 छूले चंदनबन छूले 

छूले चंदनबन छूले


 सर पे आंचल उढा 



 दुनिया ने कफन है पहना रखी मुझे 



 दर्द बोले आसमा से 

लूट मुझे तू काट मुझे

 तन उसका ना सह पाये 

 आबरू जब खरोचा जाए


 सर पे आंचल उढा 


मंज़र में तू ही है

 खंजर भी तू ही है 


 आखिर ये तो बता

 दफ़नायेगी कहाँ 


 तड़ तड़ तड़पे ये दिल

 बढ़ बढ़ भड़के मुश्किल 

धड़ धड़ धड़के धड़कन 

रग रग कटता ये तन 


 हूंकार भर्ती सांसे

 झंकार करती आसे 


तिरसूल सा ललाट 

किस्मत की चमाट


 होठों के सीलन में 

बाहों के चिलमन में 




 इशक इशक पर शक हो रहा 

लोमड़ जैसा मै 


 सांसे ना ले रहा 

मैं जी ना पा रहा 


अब तू दफना ही दे


https://youtu.be/F7z9kpm2E7Ihttps://youtu.be/F7z9kpm2E7I

0



  0