शौचालय का महत्व।


आज अगर देखा जाए तो गांव में शौचालय का प्रबंध आज भी नही है । लोग को खेतों में जाना पड़ता है । परंतु खेतो में पुरुष और महिला दोनों ही जाते है । सबसे बड़ा तो विषय ये है कि खेत मे जाने से कितनी महिलाओं का बलत्कार हुआ है।


 गांव में जवान लड़किया , नई बहुएं, और औरते का खेत मे जाना उनके लिए खतरनाक होता है। इसलिए शौचालय का प्रबंध होना चाहिए ताकि घर की बहुएं औऱ बेटियों को खेत में जाने की आवश्यक्ता न पड़े।


आज हर जगह शौचालय की व्यवस्था कर दी गयी है । अब लोगो को कही पर जाने की ज़रूरत नही होती है बल्कि अगर आप यात्रा कर रहे है तो आपको बीच मे सौचालय जरूर देखनो को मिलेगा ।


खुले में शौच करने से पर्यवरण की सुरक्षा का खतरा है। इसके अलावा बीमारी व महामारी फैलाने की भी संभावना बनी रहती है। इसलिए लोग सौचालय के महत्व को समझे और लोगो को इसके बारे में बताने का प्रयास करे।


आज हर जगह जगह पर शौचालय बना दिया गया है तकि यात्रियों को भी किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े । आज भी ऐसे कई घर है जहाँ सौचालय न होने के कारण उस घर मे शादी नही करते । परंतु ऐसा कब तक चलेगा जब गांव की महिला, बच्चियां मर्त्यु के घाट उतर जाएंगबनवाओ और नई उम्मीद जगाओ।लयौचाी श

5



  5